महादेवी वर्मा की रचनाएं एवं जीवन परिचय

नमस्कार दोस्तों🙏

प्रिय पाठक अगर आप  Mahadevi Verma ki rachnaye  जानना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए ही लिखा गया है, l इस लेख के माध्यम से हम आपको Mahadevi Verma ki rachnaye के विषय पर आपको जानकारी देंगे l

महादेवी वर्मा जी का संछिप्त परिचय 

छायावादी युग के कवित्रीयों में महादेवी वर्मा जी का नाम बड़े ही सम्मान के साथ लिया जाता है l उन्हें उनके सादगी भरे जीवन तथा ज्ञान के कारण आधुनिक मीरा के नाम से भी जाना जाता है l

महादेवी वर्मा जी का जन्म 26 मार्च 1907 को उत्तर प्रदेश राज्य के फर्रुखाबाद नामक स्थान पर हुआ था l

महादेवी वर्मा की रचनाएं (Mahadevi Verma ki rachnaye)

महादेवी वर्मा जी की हिंदी भाषा में अच्छी पकड़ थी, उन्होंने प्रायः गद्य और पद्य दोनों विषयों पर अपने लेखों को लिखा है l जिसे निम्न भागों में बांट कर पढ़ा जा सकता है l जैसे

कविता संग्रह, संकलन, रेखा चित्र, संस्मरण, निबंध संग्रह, कहानी संग्रह, भाषण संग्रह आदि l

कविता संग्रह

(Mahadevi Verma ki rachnaye)

महादेवी वर्मा ने विभिन्न विषयों पर बहुत सारी कविताओं की रचना की है, परंतु यहां पर प्रमुख कविताओं को बताया गया है ….

 कविता का नाम प्रकाशन वर्ष विशेष टिप्पणी
 यम  1919  संभवत यह वर्मा जी की प्रथम कृति है l जिसे उन्होंने 12 वर्ष की उम्र में लिखा थाl
 संध्या गीत  1930  इस कविता में प्रेम,प्रकृति तथा आध्यात्मिकता के गुण हैं l
 निहार  1930  यह कृति महादेवी वर्मा जी की सर्वश्रेष्ठ कृति मानी जाती है l
 रश्मि 1932
नीरजा 1934
 दीपशिखा
 सप्तपर्णा
 प्रथम आयाम
 अग्नि रेखा

 

संकलन

महादेवी वर्मा जी की प्रमुख कविताओं के अतिरिक्त  कुछ अंश और भी प्रकाशित हुए थे, जिनमें गीत तक कविताओं के अंश को सम्मिलित किया गया है….

आत्मिका , धनु निरंतरा , गीत पर्व , दीप गीत, स्मारिका, परिक्रमा,  संधिनी,  हिमालय,  आधुनिक कवि  महादेवी,  यामा  आदि उनके प्रमुख संकलन हैं l

रेखा चित्र

महादेवी वर्मा द्वारा निम्न रेखाचित्र का निर्माण किया गया….

1. अतीत के चलचित्र – 1941 में प्रकाशित

2.स्मृति की रेखाएं -1943 मे प्रकाशित  l यह महादेवी जी की आत्मकथा है

3. श्रृंखला की कड़ियां

4. मेरा परिवार

संस्मरण

1.पथ के साथी

2. स्मृति चित्र

3. संस्मरण

 

निबंध संग्रह

(Mahadevi Verma ki rachnaye)

महादेवी वर्मा द्वारा विभिन्न विषयों  तथा सामाजिक मुद्दों पर विभिन्न प्रकार के निबंधों की रचना की गई है lजो इस प्रकार है….

1. श्रृंखला की कड़ियां – इस निबंध का प्रकाशन 1942 में किया गया था l

2. विवेचनात्मक गद्य– 1942 में प्रकाशित

3. साहित्यकार की आस्था– 1962 में प्रकाशित

4. संकल्पिता – 1969 में प्रकाशित

5. भारतीय संस्कृति के स्वर

6. क्षडंदा

महादेवी वर्मा जी द्वारा लिखित प्रमुख कहानी..

1. गिल्लू- यह बच्चों के लिए लिखी एक कहानी है जिसमें गिल्लू नाम का गिलहरी किस कहानी का पात्र है l

इस कहानी के अतिरिक्त सम्भासण नामक कृति की रचना भी महादेवी वर्मा जी द्वारा की गई है , जो की उनके भाषण का संग्रह है ।

आप इनके बारे में भी जाने

सध्गुरु जग्गी वासुदेव 

स्वमी विवेकानंद 

कबीदास जी 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment